Wednesday, 7 November 2018

सिद्ध त्वचा कल्पचुर्ण


त्वचा रोग से परेशान है तो सिद्ध त्वचा कल्पचुर्ण है कारगर औषधि,साथ मे लगाने दवा होगी 3 दिन में असर होना शुरु हो जाता है।
      
  अब त्वचा रोगों की जानकारी ले। चर्म रोग कई प्रकार के होते हैं जैसे कि-
दाद, खाज, खुजली, छाछन, छाले, खसरा, फोड़े, फुंसी ,एक्जिमा सोरासिस  सभी रोगों की संपूर्ण जानकारी ले
चर्म रोग या त्वचा रोग के मुख्य प्रकार –

घमौरी: मुख्य रूप से अधिक गर्मी या बरसात के मौसम में हो सकता है! इसमें व्यक्ति के शरीर पर लाल रंग के छोटे-छोटे दाने निकलने लगते हैं और खारिश के साथ ये बढ़ते हैं!

दाद: यह रोग भी शरीर की सही सफाई न होने या कोई भाग अधिक पानी में रहने के कारण हो सकता है! यह रोग संक्रमिक है इसीलिए आपसे दूसरे व्यक्ति को हो सकता है! यह रोग आपने सिर, हथेली, एड़ियों, कमर, दाढ़ी या किसी अन्य भाग में हो सकता है तथा इसके आपके शरीर में पीड़ित हिस्से में कोई छल्ला या गोल सा निशान चारों और बन जाता है!

एक्जिमा: इसमें रोग से पीड़ित भाग पर पर छोटे-छोटे दाने होते है जो धीरे धीरे लाल हो जाते हैं! इसका इलाज समय पे करवाना चाहिए क्यूंकि ये बहुत कष्टदायक हो सकता है! इसे हिंदी में उकवत भी कहते हैं!

सफेद दाग: यह भी 1 प्रकार का चर्म रोग है! इसके कारण पीड़ित के शरीर के अलग अलग भागों पर सफ़ेद दाग आ जाते हैं! इसे ल्यूकोडरमा (Lucoderma) कहते हैं और देखा गया है बहुत से लोग इसे कोढ़ समझ बैठते है, जबकि ऐसा नहीं है!

एलर्जी: इसमें शरीर पर छोटे छोटे दाने निकल जाते हैं! मुख्य रूप से या उन व्यक्तियों के शरीर में हो सकता है जिनका इम्यून सीटें कमजोर हो! इससे अन्य रोग भी हो सकते है!

खुजली: यह शरीर के अलग अलग भागों में हो सकती है! ये समय के साथ बढ़ती है और इसके कीटाणु अत्यन्त सूक्ष्म होते हैं! खुजली/खाज भी एक प्रकार का संक्रामक रोग है!

छाल रोग (सारिआसिस):
इसमें त्वचा पर लाल और खुरदरे निशान पड़ जाते हैं, शरीर पर घाव पड़ने लगते है क्योंकि ऊपरी त्वचा के भाग जल्दी संक्रमण के कारण झड़ने लगते है! ये रोग वंशानुगत भी हो सकता है!

बहुत से मामलों में हम आयुवेदिक व घरेलू उपचार से रोग को ठीक कर सकते हैं।

पर कई मामलो में एक अच्छे dermatologist से सलाह लेना उचित होता है।

आज इस लेख में हम चर्म रोग ठीक करने के आयुर्वेदिक तरीकों के बारे में बात करेंगे।

नहाते समय नीम के पत्तों को पानी के साथ गरम कर के, फिर उस पानी को नहाने के पानी के साथ मिला कर नहाने से चर्म रोग से मुक्ति मिलती है।

हर रोज़ मूली खाने से चहरे पर हुए दाग, धब्बे, झाईयां, और मुहासे ठीक हो जाते हैं।

हल्दी को पीस कर तिल के तैल में मिला कर उससे शरीर पर मालिश करने से चर्म रोग जड़ से खत्म होते हैं।

करेले के फल का रस पीने से शरीर का खून शुद्ध होता है। दिन में सुबह के समय बिना कुछ खाये खाली पेट एक ग्राम का चौथा भाग “करेले के फल का रस” पीने से त्वचा रोग दूर होते हैं।
***
सेंधा नमक, दूध, हरड़, चकबड़ और वन तुलसी को समान मात्रा में ले कर, कांजी के साथ मिला कर पीस लें। तैयार किए हुए इस चूर्ण को दाद, खाज और खुजली वाली जगहों पर लगा लेने से फौरन आराम मिल जाता है।
***
पीपल की छाल का चूर्ण लगा नें पर मवाद निकलने वाला फोड़ा ठीक हो जाता है। चार से पाँच पीपल की कोपलों को नित्य सुबह में खाने से एक्ज़िमा रोग दूर हो जाता है। (यह प्रयोग सात दिन तक लगातार करना चाहिए)।
***
अरण्डी, सौंठ, रास्ना, बालछड़, देवदारु, और बिजौरे की छड़ इन सभी को बीस-बीस ग्राम ले कर एक साथ पीस लें। उसके बाद इन्हे पानी में मिला कर लेप तैयार कर लें और फिर उस लेप को त्वचा पर लगा लें। इस प्रयोग से समस्त प्रकार के चर्म रोग दूर हो जाते हैं।
***
त्वचा रोग होने पर भोजन में परहेज़ 

त्वचा रोग होने पर बीड़ी, सिगरेट, शराब, बीयर, खैनी, चाय, कॉफी, भांग, गांजा या अन्य किसी भी दूसरे नशीले पदार्थों का सेवन ना करें।

बाजरे और ज्वार की रोटी बिलकुल ना खाएं।

शरीर की शुद्धता का खास खयाल रक्खे।त्वचा रोग हो जाने पर, समय पर सोना, समय पर उठना, रोज़ नहाना, और धूप की सीधी किरणों के संपर्क से दूर रहेना अत्यंत आवश्यक है।

भोजन में अचार, नींबू, नमक, मिर्च, टमाटर तैली वस्तुएं, आदि चीज़ों का सेवन बिलकुल बंद कर देना चाहिए।

(चर्म रोग में कोई भी खट्टी चीज़ खाने से रोग तेज़ी से पूरे शरीर में फ़ेल जाता है।

अगर खाना पचने में परेशानी रहती हों, या पेट में गैस जमा होती हों तो उसका उपचार तुरंत करना चाहिए और जब यह परेशानी ठीक हो जाए तब कुछ दिनों तक हल्का भोजन खाना चाहिए

खराब पाचनतत्र वाले व्यक्ति को चर्म रोग होने के अधिक chances होते हैं।

त्वचा की किसी भी प्रकार की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को हररोज़ रात को सोने से पूर्व एक गिलास हल्के गुनगुने गरम दूध में, एक चम्मच हल्दी मिला कर दूध पीना चाहिए।

सिद्ध त्वचा कल्पचुर्ण औऱ सिद्ध त्वचा क्रीम
Online मंगवाए
      Whats करे -: 94178 62263

No comments:

Post a Comment

सिद्ध कायाकल्प चुर्ण