Monday, 26 February 2018

सफ़ेद पानी (लकोरिया ) की दवा★


सिद्ध अयूर्वादिक

       
        ★सफ़ेद पानी (लकोरिया ) की दवा★


श्वेत प्रदर या ल्यूकोरिआ या लिकोरिया (Leukorrhea) या "सफेद पानी आना" स्त्रिओं का एक रोग है जिसमें स्त्री-योनि से असामान्य मात्रा में सफेद रंग का गाढा और बदबूदार पानी निकलता है और जिसके कारण वे बहुत क्षीण तथा दुर्बल हो जाती है। महिलाओं में श्वेत प्रदर रोग आम बात है।

ल्‍यूकोरिया स्त्री की योनि से जुड़ी एक बहुत ही सामान्य स्थिति है। योनि मार्ग से आने वाले सफेद और चिपचिपे गाढ़े स्राव को ल्‍यूकोरिया कहते हैं। कभी-कभी योनि से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने के लिए यह सामान्य होता है। लेकिन कई बार योनि से निकलते स्राव में ज़्यादा चिपचिपापन, जलन, खुजली, गंध होती है जिसके कारण यह ज़्यादा परेशानी का कारण बनता है।

लिकोरिया होने के लक्षण :
★पेट के निचले हिस्से और टांगो में दर्द रहना
★बार बार पेशाब आना
★योनी के आस पास खुजली होना
★सम्भोग के दौरान दर्द महसूस होना
★थकावट ज्यादा रहना
★कब्ज़ होना
★गर्भ न ठहरना
★खाया पीया न लगना।
★ शरीर का कमजोर होना।

★★★
लकोरिया की दवा

कौंचबीज बीज 100 ग्राम
आवला चुर्ण     100  ग्राम
तुलसी बीज     100  ग्राम
कीकर फली     100  ग्राम
सतावरी           100  ग्राम
सफेद मूसली    100  ग्राम
मिश्री               100  ग्राम
मुलहठी            50 ग्राम
छोटी इलायची के बीज 25 ग्राम

सभी लो मिलाकर चुर्ण बनाए।

कैसे सेवन करे।
दिन में 3 बार 1-1चमच्च पानी से ले।
कम से कम 21 दिन कोर्स करे।
अगर पुराना लकोरिया रोग है तो 90 दिन कोर्स करे।
★★
साथ मे यह जरूर करे

नीम पत्ती 200 ग्राम 100 ग्राम फिटकरी को 2 लीटर
में उबालकर कर बोतल में भर ले।
दिन में 5 से 7 वार इस पानी से योनि की सफाई करे।
या
योनी की साफ-सफाई का समुचित ध्यान रखें, इसके लिए आप गुनगुने पानी में कुछ बूँद डेटॉल का डालकर साफ करें।

सेक्स करने के बाद अपने प्राइवेट पार्ट को धोना न भूलें।
यूरिन पास करने के बाद पानी से साफ करें।

सेक्स के समय कंडोम क प्रयोग करें।

अपने अंडरगारमेंट को अच्छे से साफ करें।
दवा online मंगवा सकते हैं।

किसी भी शरीरक  स्मयसा के लिए  contact करे।
Whats 94178 62263


श्वेत प्रदर या ल्यूकोरिआ या लिकोरिया (Leukorrhea) या "सफेद पानी आना" स्त्रिओं का एक रोग है जिसमें स्त्री-योनि से असामान्य मात्रा में सफेद रंग का गाढा और बदबूदार पानी निकलता है और जिसके कारण वे बहुत क्षीण तथा दुर्बल हो जाती है। महिलाओं में श्वेत प्रदर रोग आम बात है।

ल्‍यूकोरिया स्त्री की योनि से जुड़ी एक बहुत ही सामान्य स्थिति है। योनि मार्ग से आने वाले सफेद और चिपचिपे गाढ़े स्राव को ल्‍यूकोरिया कहते हैं। कभी-कभी योनि से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने के लिए यह सामान्य होता है। लेकिन कई बार योनि से निकलते स्राव में ज़्यादा चिपचिपापन, जलन, खुजली, गंध होती है जिसके कारण यह ज़्यादा परेशानी का कारण बनता है।

लिकोरिया होने के लक्षण :

★पेट के निचले हिस्से और टांगो में दर्द रहना
★बार बार पेशाब आना
★योनी के आस पास खुजली होना
★सम्भोग के दौरान दर्द महसूस होना
★थकावट ज्यादा रहना
★कब्ज़ होना
★गर्भ न ठहरना
★खाया पीया न लगना।
★ शरीर का कमजोर होना।

★★★
लकोरिया की दवा

कौंचबीज बीज 100 ग्राम
आवला चुर्ण     100  ग्राम
तुलसी बीज     100  ग्राम
कीकर फली     100  ग्राम
सतावरी           100  ग्राम
सफेद मूसली    100  ग्राम
मिश्री               100  ग्राम
शतावरी            50 ग्राम
मुलहठी            50 ग्राम
छोटी इलायची के बीज 25 ग्राम

सभी लो मिलाकर चुर्ण बनाए।

कैसे सेवन करे।
दिन में 3 बार 1-1चमच्च पानी से ले।
कम से कम 21 दिन कोर्स करे।
अगर पुराना लकोरिया रोग है तो 90 दिन कोर्स करे।

★★
साथ मे यह जरूर करे
नीम पत्ती 200 ग्राम 100 ग्राम फिटकरी को 2 लीटर
में उबालकर कर बोतल में भर ले।
दिन में 5 से 7 वार इस पानी से योनि की सफाई करे।
या
योनी की साफ-सफाई का समुचित ध्यान रखें, इसके लिए आप गुनगुने पानी में कुछ बूँद डेटॉल का डालकर साफ करें।

सेक्स करने के बाद अपने प्राइवेट पार्ट को धोना न भूलें।
यूरिन पास करने के बाद पानी से साफ करें।

सेक्स के समय कंडोम क प्रयोग करें।

अपने अंडरगारमेंट को अच्छे से साफ करें।


दवा online मंगवा सकते हैं।
किसी भी शरीरक  स्मयसा के लिए  contact करे।
Whats 94178 62263
Email-sidhayurveda1@gmail.com

सिद्ध कायाकल्प चुर्ण