Tuesday, 6 March 2018

सिद्ध कफ़ नाशक कल्पचुर्ण- जिद्दी कफ को करे अलविदा




          
  टॉसिल रोग में औऱ साइनस रोग  में रामबाण है कफ़ चुर्ण फेफड़ों की इन्फ़ेक्सन में 100℅ असरदार हैं।
जिदी इंफेक्शन में 3 महीने का कोर्स करें।

 गले की सूजन और खराश के उत्तम है सिद्ध कफ़ कल्पचुर्ण। जिदी कफ़ को कहे अलविदा।
                           ★★★
             3 ही खुराक छींकना, गला खराब होना, गले मे रेसा आना, रेसा कारण सांस का बंद होना,
               नाक जाम होना, खाँसना बंद
                            ★★★
     ★ कफ़ के कारण सिर दर्द रहता है तो यह ले★
   ★पूरे परिवार के लिए सदा यह चूर्ण अपने घर रखे★
            ◆साइनस में रामबाण है कफ़ चुर्ण◆
★ शरीर मे कही भी रेशा हो यह चुर्ण रामबाण है★
        ■ खुद बनाए या online मंगवाए ■
                ★सिद्ध कफ चुर्ण★
★हींग              100 ग्राम (हींग भून लें)
★अजवाइन    100 ग्राम
★अड़ूसा        100 ग्राम
★गिलोय चूर्ण    50 ग्राम
★बंसलोचन      50 ग्राम
★पिपली          50 ग्राम
★दालचीनी       50 ग्राम
★आंवला चूर्ण।  50 ग्राम
★छोटी हरड़      50 ग्राम
★तुलसी पाचांग-50 ग्राम 
★मलॅठी-            50 ग्राम
★चरायता चूर्ण    50 ग्राम
★काला नमक      50 ग्राम( नमक को भून लें)
★सौंठ-                20 ग्राम
★काली मिर्च -      10 ग्राम
400 ग्राम गिलोय रस में भावना दे।
साया में सुखाए।
सभी को चुर्ण बना कर 1-1 चमच्च दिन में 3 बार गर्म पानी से लेते रहे।

●●
बच्चों को आधा चमच्च दे।
3 दिन पूर्ण आराम करें।
जिदी कफ़ में 21 से 90 दिन तक सेवन करे।
      ●इन रोग में जबरदस्त फायदा करेगी●
★गले की खराश ,ले में खराश खिचखिच रहना
★सर्दी जुकाम
★वायरल बुखार
★लगातार नाक बहना
★छाती (सीने) और गले में इंफेसन
★सांस लेने में तकलीफ होना,
★जिदी कफ़ रेसा का बने रहना
के लिए यह दवा रामबाण है।
■■■
बलगम जमने के कारण
ज्यादा धूम्रपान करना
वायरल इन्फेक्शन होना
साइनस का रोग
सर्दी जुखाम और फ्लू
■■■
छाती में कफ के लक्षण
सांस लेने और खाँसने पर घरघराहट की आवाज आना
गले में खराश रहना
बलगम वाली खांसी होना
सीने में जकड़न और दर्द महसूस होना
लगातार छीकें आना और सांस लेने में तकलीफ होना
■■■
कफ को दूर करने के आसान उपाय
पानी ज्यादा पिए, शरीर से बलगम बाहर निकालने के लिए दिन भर में हर घंटे पानी पिए।
सीने, गले और नाक से बलगम तोड़ने के लिए भाप ले। ये बलगम खत्म करने का तरीका काफी आसान और फायदेमंद है।
Gale mein balgam ka ilaj, एक गिलास गरम पानी में 1 चम्मच नमक मिला कर इससे गरारे करे। दिन में 2 से 3 बार ये उपाय करने पर नाक और गले में जमा बलगम बाहर निकलने लगती है।
बलगम बनने से रोकने के लिए डेयरी प्रोडक्टस का सेवन ना करे जैसे की चीज़, दूध, दही और आइसक्रीम। इसके इलावा ज्यादा तला हुआ खाना भी ना खाएं।
धूम्रपान ना करे, धुँआ शरीर में balgham को बढ़ाता है और शरीर का जल्दी ठीक होने की क्षमता को कम करता है।
मसालेदार खाना नाक की बलगम तोड़ता है और इसे आसानी से बहने देता है।
                  ■हम आप की सेवा में है■
         ◆ किसी भी शरीरक  स्मयसा के लिए◆ 
          ●निशुल्क सिद्घ अयूर्वादिक सलाह ले●
                 Whats 94178 62263
        
  

सिद्ध कायाकल्प चुर्ण