Thursday, 18 October 2018

सिद्ध शक्तिवर्धक कल्पचुर्ण - एक ऐसा योग जो जगाएँ तन मन की शक्ति



                      महाराजा योग
            सिद्ध शक्तिवर्धक कल्पचुर्ण
          premature ejaculation
।।एक ऐसा योग जो किसी भी उम्र में उपयोग कर सकते है।।


       
    आप को भी आमंत्रण है महाराजा योग का
            वीर्य और बलवर्धक योग
  
शक्राणु ,उतेजना खत्म हो गई हो,शीघ्रपतन, धातु और मर्दाना कमजोरी में ,काम इच्छा का मर जाने में रामबाण 

क्या है नुस्खा
तालमखाने          250 ग्राम
कोंच गिरी            100 ग्राम
सफ़ेद मूसली        100 ग्राम
आवला चुर्ण          100 ग्राम
तुलसी बीज           100 ग्राम
कीकर फली          100 ग्राम
सतावर                 100 ग्राम
सालम मिश्री          100 ग्राम
सालम पंजा           100 ग्राम
बड़ दूध                 100 ग्राम
बारासिंघा सिंधभस्म    5 ग्राम
मिश्री                    150 ग्राम
विदारीकंद               50 ग्राम
शिलाजीत               50 ग्राम
कबाब (शीतल)चीनी 50 ग्राम
हत्था जोरी              20 ग्राम
कतीरा गोंद             20 ग्राम
बबूल का गोंद।        20 ग्राम
सभी को चुर्ण बनाए।

सेवन विधि:- 1-1 चमच्च (5 ग्राम) सुबह और शाम खाने के 1 घंटे बाद मीठे गर्म दूध से ले।

परहेज :- खट्टे सभी पदार्थों से दूर रहे। बिल्कुल सेवन न करे। 21 दिन संभोग क्रिया से परहेज रखे। ब्रह्मचर्य का पालन करे।

नोट
 सिद्ध शक्तिवर्धक कल्पचुर्ण के साथ शिश्न की लगातार मालिश जरूर करे

जैतून तेल 100 ml
काला तिल तेल 50 ml
बादाम तेल      25 ml
इतर गुलाब 5 ml
दोनों को मिलाकर 10 मिनट सुबह 10 मिनट शाम को शिश्न की मालिश जरूर करे।
शिश्न नाड़ियों की कमजोरी दूर होगी
हमारी गरंटी होगी।

        सिद्ध शक्तिवर्धक कल्पचुर्ण के फ़ायदे
🌹 शक्तिवर्धक कल्पचुर्ण के प्रयोग से शुक्रानुओ में वृद्धि होती है इसका 90 दिन प्रयोग करें। इसको खाने से संतान की प्राप्ति हो सकती है।
🌷 यह योग 20 से 30 मिनट तक timing में ले जाता है।
🌹शक्तिवर्धक, वीर्यवर्धक, स्नायु व मांसपेशियों को ताकत देने वाला एवं कद बढ़ाने वाला एक पौष्टिक रसायन है।
🌹यह धातु की कमजोरी, शारीरिक-मानसिक कमजोरी आदि के लिए उत्तम औषधि है।
🌹इसके सेवन से शुक्राणुओं की वृद्धि होती है एवं वीर्यदोष दूर होते हैं।
🌹धातु की कमजोरी, स्वप्नदोष, पेशाब के साथ धातु जाना आदि विकारों में इसका प्रयोग बहुत ही लाभदायी है।
🌹यह राज्यक्ष्मा(क्षयरोग) में भी लाभदायी है। इसके सेवन से नींद भी अच्छी आती है।
🌹यह वातशामक तथा रसायन होने के कारण विस्मृति, यादशक्ति की कमी, उन्माद, मानसिक अवसाद (डिप्रेशन) आदि मनोविकारों में भी लाभदायी है।
🌹दूध के साथ सेवन करने से शरीर में लाल रक्तकणों की वृद्धि होती है, जठराग्नि प्रदीप्त होती है, शरीर में शक्ति आती है व कांति बढ़ती है।
🌹यह औरतों के संभोग करने की क्षमता को बढाता है. इसके इलावा  शक्तिवर्धक कल्पचुर्ण पुरुषों की कामेक्षा बढाने के लिए भी असरदायक है. इन्फर्टिलिटी, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, थकान, कमजोरी, लो स्पर्म काउंट और यूरिन की समस्या को दूर करने के लिए लाभकारी है।

                   💎 परहेज 💎

        गर्म मिर्च मसालेदार पदार्थ और मांस, अण्डे आदि, हस्तमैथुन करना, अश्लील पुस्तकों और चलचित्रों को देखना, बीड़ी-सिगरेट, चरस, अफीम, चाय, शराब, ज्यादा सोना आदि बन्द करें।
ये उपाय पुराने से भी पुराने धात रोग को ठीक कर देता है!।

वीर्य गाड़ा हो sex timing 20 मिनट होगी।
धातु दवा online भी मंगवा सकते है।
🌹🌷🌹
Online मंगवाए- संपर्क सूत्र
Whats 94178 62263
Call 78890 53063


सिद्ध कायाकल्प चुर्ण