Tuesday, 26 November 2019

सिद्ध त्रिफला गुगुल चूर्ण



        
           त्रिफला गुगुल के होते हैं 
                 अनन्त फ़ायदे

             त्रिफला गुग्गुल क्या है?
त्रि का अर्थ है तीन और फला का अर्थ है फल| त्रिफला में तीन फलों के सत्त का मिश्रण पाउडर के रूप में होता है:
आँवला +बहेड़ा +हरड़= 1:2:3

गुग्गुल दो आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के मिश्रण से बना एक प्रकार का राल है। यह गुर्दे की पथरी  और मूत्र पथ के संक्रमण पर सबसे अच्छा काम करता है।

त्रिफला चूर्ण और गुगुल को मिलाकर त्रिफला गुगुल बनाया जाता है जिसे त्रिफला गुगुल कहा जाता है।

 त्रिफला गुग्गुल में पांच अलग-अलग तरह के स्वाद पाए जाते हैं: खट्टा, मीठा, कड़वा, नमकीन और तीखा

सिद्ध त्रिफला गुग्गुल के पौष्टिक गुण
प्राकृतिक रेचक
एंटी-ऑक्सीडेंट
एंटी इंफ्लेमेटरी
एंटी बैक्टीरियल
एंटी वायरल
हीमोग्लोबिन बढाने वाला
कैंसर से लड़ने के गुण
🐘🌴🐘🌴
 त्रिफला गुगुल के फ़ायदे

➡️ कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखे
➡️ त्रिफला गुग्गुल(Triphala Guggul) कोशिकाओं में खून के प्रवाह को बढ़ा देता है। इससे आपकी धमनियों में एलडीएल (कम डेंसिटी लिपोप्रोटीन) का स्तर कम हो जाता है। 
➡️  त्रिफला गुग्गुल का सेवन खून में शुगर के स्तर को कम कर देता है और किसी भी व्यक्ति की लिपिड प्रोफ़ाइल को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।
🌹🌲🌹
पाचन तंत्र को स्वस्थ रखे

त्रिफला गुग्गुल(Triphala Guggul) एक प्राकृतिक रेचक है और यह आँतों की गतिविधि को नियंत्रित करता है। रात में सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला गुग्गुल का पानी के साथ सेवन करने से पेट फूलना, सूजन और दस्त जैसी पाचन समस्याओं को कम कर देता है।
🐘🌹🐘🌴
प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देना

त्रिफला गुग्गुल(Triphala Guggul) शरीर की अशुद्धियों को दूर करता है और खून के बहाव में सुधार करता है। इसमें प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए सभी आवश्यक विटामिन और खनिज मौजूद हैं|
🌹🐘🌴🐘
सूजन को कम करे

त्रिफला गुग्गुल(Triphala Guggul) शरीर की प्रतिरक्षा को बढ़ाकर शरीर को सभी आवश्यक पोषक तत्व देता है। सोने से पहले इसकी हलकी सी मात्रा लेने से भी यह शरीर में सूजन को कम कर देता है। 1 बड़ा चम्मच त्रिफला गुग्गुल पानी के साथ लेने से यह चमत्कारी प्रभाव दिखता है|
🌲🐘🌴🐘

जोड़ों के दर्द से राहत दिलाये

त्रिफला में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो गठिया, संधि-शोथ और जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता हैं। यह शरीर से यूरिक एसिड के कारण होने वाली सूजन को भी हटा देता है।
🐘🌴🐘🌲

वजन घटाने में सहायक

त्रिफला गुगुल(Triphala Guggul) कोलेसिस्टोकिनिंन’ नामक हार्मोन पैदा करता है जो आपको हमेशा पेट भरा हुआ महसूस कराता है| आप वजन को कम करने के लिए दिन में तीन बार पानी के साथ त्रिफला गुगुल को ले सकते हैं और अपने एडीपोज़ उत्तकों  में अतिरिक्त फैट के जमाव को कम कर सकते हैं।
🐘🌹🐘🌴

एंटी डिप्रेसेंट के रूप में काम करे

त्रिफला गुगुल(Triphala Guggul) आपके दिमाग में चिंता का स्तर कम कर देता है और आपको शांत महसूस कराता है। रात में सोने से 30 से 40 मिनट पहले  त्रिफला गुगुल कैप्सूल लिया जा सकता है|
🐘🌲🐘🌴

शरीर से एलर्जी और जीवाणुओं की वृद्धि हटाये
त्रिफला गुगुल(Triphala Guggul) में एंटी-वायरल और एंटी-एलर्जिक गुण होते हैं जो सामान्य सर्दी, बुखार, जी मिचलाना जैसी समस्याओं का इलाज करते हैं। इसे मौखिक रूप से गोलियों के रूप में या पाउडर रूप में पानी के साथ लिया जा सकता है। यह उन लोगों के लिए लाभदायक है जो एलर्जी जैसी प्रतिक्रियाओं के प्रति अति संवेदनशील हैं।
🌲🌹🐘🌲
त्रिफला गुग्गुल का उपयोग
सभी स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज़ के लिए त्रिफला गुग्गुल का चूर्ण लिया जा सकता है।

खाली पेट भी त्रिफला गुग्गुल(Triphala Guggul) का पाउडर लिया जा सकता है|

एक गिलास पानी में त्रिफला गुग्गुल पाउडर मिलाएं|
अच्छे परिणामों के लिए हर रात इस मिश्रण को पीएं|
🐘🌴🐘🌹
 त्रिफला गुगुल का खुराक: 
  कितना लेना चाहिए?

2 चम्मच त्रिफला गुग्गुल पाउडर
2 त्रिफला गुगुल कैप्सूल (सुबह और शाम)
        🔷🐘🔷🌴

    त्रिफला गुगुल चूर्ण के
 साइड इफेक्ट्स और बचाव

गर्भवती/स्तनपान करने वाली माताओं के लिए यह सुरक्षित नहीं है क्योंकि इससे गर्भपात और दूध के उत्पादन में बाधा उत्पन्न हो सकती है।

यदि इसे ज्यादा मात्रा में लिया जाए तो यह गैस्ट्रिक मुद्दों, दस्त और डीहाईडरेशन का कारण बन सकता है।

यदि आप मधुमेह के रोगी हैं तो आपको त्रिफला गुग्गुल(Triphala Guggul) का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए|

त्रिफला गुगुल चूर्ण आप ऑनलाइन मगवाएँ
हेल्पलाइन- whats
78890 53063
94178 62263

हम  अयुर्वेदिक की महत्वपूर्ण जानकारी 
के लिए सदा आप की सेवा में है।

अपने रोग बारे हमे बताए हम आप सही सलाह ऒर उत्तम अयुर्वेदिक इलाज बताएंगे।

No comments:

Post a Comment

सिद्ध कायाकल्प चुर्ण