Wednesday, 20 February 2019

मोटापा कैसे हटाए-बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के-- मोटापा से होने वाले सभी रोगों से पाएँ छुटकारा।





■मोटापा कम करने के लिए संपूर्ण जानकारी■
★आप जी पहले कायकल्प चुर्ण बारे जाने
     जो मोटापा की दवा साथ दिया जाता है]
★फिर मोटापा की दवा बारे जानकारी देंगे]
★फिर दवा कैसे लेनी है यह बताएगे
★ अंत मे मूल्य बताया गया है।
★★★
                     कायाकल्प चुर्ण
                    सभी रोग के लिए
                  सदैव युवा रखने वाला,
                 शरीर का पूरा कायाकल्प
                 करने वाला सदाबहार चूर्ण


★★★
कायाकल्प चुर्ण वात पित्त कफ़
को संतुलित करता है
★★★
किसी भी नशे को छुड़ाने में कारगर है काया क्ल्प चूर्ण।
थकान एक पल में दूर होगी। क्योंकि एलोवेरा हर नस को पूर्ण क्रिया में ले आता है।

★★★
आज बढ़ते हुए तनाव, मानसिक थकान, चिंता, शारीरिक रोग ये सब असमय ही इंसान को बूढा बना देती हैं। भरी जवानी में इंसान बूढा नज़र आने लगता हैं। अगर आप अपना योवन कायम चाहते हैं तो आपको यथासंभव तनाव, चिंता को त्यागना होगा।
कहा भी जाता हैं के चिंता से बड़ा कोई शारीरिक शत्रु नहीं हैं। योग करे, ध्यान करे, दोस्तों से मिले, बच्चो और बुज़ुर्गो के साथ समय बिताये, किसी क्लब का सदस्य बनिए,हफ्ते में एक दिन गौशाला जाइए, किसी गरीब को खाना खिलाएं। इस से आपकी तनाव और चिंता भाग जाएगी।
इसके साथ हम आज आपको बताने जा रहे हैं आयुर्वेद के एक ऐसे सदाबहार चूर्ण के बारे में जिसको खा कर आप सदा अपने आप को जवान और तंदुरुस्त महसूस करेंगे। बस इसको अपने दैनिक जीवन में शामिलकरे।
●●●

क्या है कायाकल्प चूर्ण
कायाकल्प चुर्ण आयुर्वेद की एक पुरानी तकनीक है जिसका प्रयोग दक्षिण भारत के संतो द्वारा जीवन में शक्तियों को बढ़ाने के लिए किया जाता था।
कायाकल्प चुर्ण के तीन मुख्य लक्ष्य-कायाकल्प चुर्ण के वैसे तो कई फायदे हैं। लेकिन इसके तीन मुख्य लक्ष्य हैं-
नशों की कमजोरी को दूर करता है।

व्यक्ति की सुंदरता एंव स्वास्थ्य के साथ-साथ लंबे समय तक उन्हें जवानी को बरकरार बनाए रखना। नेचुरल एजिंग प्रोसेस को धीमा करना
ऒरआयु बढ़ाना।
●●
क्या है काया कल्प चूर्ण में
आए जाने -:::
*त्रिफला -250 ग्रा
*इंद्राण से बनी
हुई अजमायन-200 ग्राम
*गिलोय चूर्ण-100 ग्राम
बेल 200 ग्राम
*अर्जुन छाल चूर्ण -100 ग्राम
* ब्रह्मा बूटी चूर्ण- 100 ग्राम
*शंखपुष्पी चूर्ण-100 ग्राम
*कलौंजी -100 ग्राम
*आवला चूर्ण-100 ग्राम
*नसांदर -100 ग्राम
*अपामर्ग -50 ग्राम
* जटामांसी -50 ग्राम
* सत्यनाशी -50 ग्राम
* काला नमक -50 ग्राम
*सेंधानमक -50 ग्राम
*ऐलोवैरा रस -500 ग्राम
सभी चूर्ण को एलोवेरा रस में मिलाकर
सांय मे सुखाय ।
जब सुख जाए तब आप का काया कल्प
चूर्ण बनकर तैयार हो गया है ।
सेवन विधि - अगर आप बिमार है तो दिन एक -एक चम्मच 3 बार ले ।।
अगर आप सदा स्वास्थ्य रहना चाहते है तो एक चम्मच
सुबह खाली पेट ले ।
●●

काया कल्प चूर्ण के Multipurpose Benifits है
●पथरी 5 mm तक की 3 दिन में गुर्दे से बाहर निकल जाती है।

कैसे ले- 50 मिलीलीटर नीबू रस ले 300 ग्राम पानी मे मिलाकर 5 ग्राम दवा ले।
दिन में 4 बार दवा ले।
जब दवा लेगे दर्द तत्काल मिट जाएगा।
****
● नसों की कमजोरी में रामबाण है काया कल्प योग।
●हर प्रकार की एलर्जी में फायदा। जैसे :-
नाक में पानी, छीके, पुराना जुकाम, खाँसी, गले की एलर्जी।
● थकान कभी महसूस नही करेंगे। एक उत्साह होगा काया कल्प लेने से।
● त्वचा की सलवटे दूर होती हे, त्वचा के रंग में निखार आता हे ,चर्म रोग दूर होते हे ,त्वचा कांतिमय व् ओजमय बनती हे
● यूरिया बढा हो काया कल्प रामबाण की भांति
काम करता है ।
●ओवरी में सूजन ',पानी भरना' अंडा न बनना।,मासिक धर्म कम आना ठीक करेगी यह काया कल्प।
● शरीर मे गांठे हो तो काया कल्प रामबाण की
भांति काम करता है ।
● माइग्रेन में जबरदस्त लाभ होगा।
● बालो की वृद्धि तेजी से होती है,
● अनावश्यक चर्बी घटेगी.
● पुरानी कब्ज से मुक्ति मिलेगी
● खून साफ़ होगा
● रक्त नलिकाए साफ़ होगी.
● शरीर के समस्त दर्द 7 दिन ठीक होगे ।
● युरिक एसिड जड़ से खत्म होगा।
● शरीर के कोने कोने में जमी गंदगी इसके नियमित सेवन से पेशाब के द्वारा बाहर निकल जायेगी
नया शुद्ध खून बनेगा.
◆ औरतों की पीरियड की समस्या हो तो काया कल्प
रामबाण जैसा काम करता है ।
◆ शरीर सुडोल ,मजबूत व आकर्षक बनता हे
बल -बुद्धि – वीर्य की वृद्धि करता है ।
● नपुसंकता दूर होती है।
● माहलाओं में सेक्स की कमी को पूरा करेगा काया क्ल्प चूर्ण
● कब्ज दूर होती हे , जठराग्नि व् पाचन शक्ति बढती है। और बादी /खूनी बवासीर खत्म होगी ।
● व्यक्ति का तेज बढ़ता हे ,
● बुढ़ापा जल्दी नहीं आता
दात मजबूत होते है।
● हड्डीया मजबूत होती है।
● रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है।
● ह्रदय की कार्यक्षमता बढती है।
◆ कोलेस्ट्रोल बढ़ता है तो समान्य हो जाएगा ।
●आलोपथिक द्वइयो के साइड इफ़ेक्ट कम करता है।

● यह चूर्ण आयुष्य वर्धक है ।
● आयु बढ़ेगी
● घठियावादी हमेशा के लिए दूर होती है।
◆ Diabetes काबू में रहती है।
● कफ से मुक्ति मिलती है।

परहेज क्या करें – अंडा, मांस, मछली, नशीले पदार्थो का सेवन एवं तली हुई वस्तु औगर फास्ट फूड वर्जित हैं।
●●●
               सिद्ध मोटापा नाशक कल्पचुर्ण
 मोटापा कम करने का योग ।यह एक फ़ूड है इस योग का कोई साइड इफेक्ट्स और नुकसान नही है।बाजार में  मिलने वाली दवाए हड्ड़ी रोग का कारण बन सकती हैं।
★★★

नोट -: online दवा मंगवाए जिस में हम आप को साथ मे कायकल्प चुर्ण भी देगे। जो आप की नाड़ी तंत्र को शुद्ध और साफ करेगा।
कायकल्प  चुर्ण बारे जानने के लिए whats 94178 62263  पर sms करे।
★★★

आप खुद भी बना सकते है।
यह पेट की चर्बी में बहुत अच्छा काम करती हैं।
           आवश्यक सामग्री :
●गुग्गुल(Guggul)- 140 ग्राम
●विलायिती इमली (Camachile)-105 ग्राम (इसे जंगल जलेबी, अग्रेजी इमली, गंगा इमली भी कहते है।)
●त्रिफला (Triphala)- 105 ग्राम
●बेल चूर्ण -105 ग्राम
◆अर्जुन छाल-,105 ग्राम
●यष्टिमधु (Liquorice)-70 ग्राम (इसे मुलेठी भी कहते है।)
◆गिलोय (Tinospora)- 70 ग्राम
●नागरमोथा (Nut grass)- 70 ग्राम (Cyperus Scariosus)
जीरा (cumin)- 70 ग्राम
शुंठी(Shunti)- 70 ग्राम (सोंठ)

★ बनाने की विधि :
उपरोक्त सभी औषिधियों को बारीक-बारीक कूट-पीस ले और महीन छन्नी से छान कर किसी डिब्बे में बंद कर के रख ले-आपकी ये सामग्री कूट-पिस लगभग 700 ग्राम तैयार हो जायेगी।
★ 


सेवन करने का तरीका :
प्रतिदिन आपको इसमें से दस ग्राम सुबह खाने से पहले गुनगुने पानी से और शाम को खाने के बाद गुनगुने पानी से लेना है ।

बीस ग्राम के हिसाब से एक माह में 600 ग्राम दवा होगी तथा ये एक माह से उपर के लिए हो जायेगी।

तब तक आपका वजन लगभग आठ से दस किलो से जादा कम हो जाएगा।

पेट बढ़ा है 2 से 3 इंच कम हो जाएगा।
पहले माह तेजी से घटता है लगभग छ: से सात किलो फिर थोडा कम घटेगा।

आप इसे आगे भी जारी रख सकते है जब आपको लगे कि आपका वजन और चर्बी अब आपके लिए पर्याप्त है दवा को बंद कर सकते है।

★ आवश्यक परहेज :
भोजन और परहेज :
          मोटापे से परेशान व्यक्ति को मुद्ग, जौ, मूंग का रस, मक्खन, गर्म पानी, बाजरा, गेहूं, ताजा दूध, मुनक्का, संतरा, टमाटर, मसूर, छाछ आदि का सेवन करना चाहिए। मोटे व्यक्ति को प्रतिदिन सुबह टहलना चाहिए और थोड़ी-बहुत मेहनत भी करनी चाहिए। रोगी को पतला करके दूध, फलों का रस, कॉफी, गर्म करके पीना चाहिए।

          मोटापे के रोगी को गाय का दूध, देशी घी, गाढ़ी दाल, चावल, आलू, गर्म दूध, चीनी से बने पदार्थ, पनीर, आइसक्रीम, मिठाइयां, मांसाहारी भोजन, अधिक चिकनाई व चटपटा पदार्थ, सांभर, सूप, बिस्कुट, केक, नमकीन पदार्थ, जेली, मिठाइयां, बाहर का खाना, देर रात पार्टियों में खाना, नए शालि चावल आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। शीतल पानी से नहाना मोटापे के लिए हानिकारक होता है।
तली भुनी चीजे, फास्ट-फ़ूड तथा रिफाइंड आयल का प्रयोग न करे।



Online आप दवा मंगवा सकते हैं।
हम साथ मे काया क्ल्प चूर्ण भी देगे।
जो मोटापे की दवा औऱ मोटापे में हैरानीजनक फायदा करता है।
★★★★
70  दिन की दवा होगी
खर्च जाने अब
मोटापा कम करने की दवा 500 ग्राम
1050 रुपये
कायाकल्प चुर्ण 500 ग्राम 
500  रुपये।
टोटल 1550 जमा कराए।
★★★★
सेवन विधि
कायाकल्प चुर्ण 1 चम्मच सुबह खाली पेट।
रात को सोते टाइम पानी से सेवन करे।
★★★
मोटापा दवा दिन 3 बार कभी भी पानी से ले।
परहेज के लिए पोस्ट पढ़े।
★★
नोट
कोरियर  केवल शहर मे ही जाएगा ।
पता शहर का ही दे ।
डाक से गांव में जाएगी दवा ।
अपना पता साफ लिखे।
आप को पहले अकाउंट मे
दवा की राशि जमा करानी होगी
फिर आप को दवा कोरियर होगी ।
हमारा अकाउंट है है -:
Paytm 9417862263
Swami Veet Dass c℅ Ranjit Singh
State bank of india
A/c -65072894910
Ranjit Singh
Bank code -50966
Ifsc code -sbin0050966
Sarhind barach
Fatehgarh sahib (punjab )
पढ़ कर कॉल करे
94178 622636




सिद्ध गठियावात नाशक कल्पचुर्ण



गठिया संधिवात रोग (यूरिक एसिड में रामबाण ESR बढ़ा हो तो यह दवा रामबाण  6 महीने दवा लगातार दवा करे 100% लाभ होगा

           सिद्ध गठियावात नाशक क्ल्पचुर्ण*



त्रिफला 250 ग्राम

इन्द्रयाण अजवाइन 125 ग्राम
गिलोय चूर्ण- 100 ग्राम
मैथी दाना -100 ग्राम
अजवायन -100ग्राम
चरायता -100 ग्राम
सहजन छाल-100ग्राम
काली जीरी 50 ग्राम
कड़ु - 50 ग्राम
सुरजन जीरी -50 ग्राम
हारसिंगार के -50 ग्राम
पते
नागौरी असगन्ध -50ग्राम
सौंठ -50 ग्राम
अलसी बीज -50 ग्राम
पिपरामूल, चित्रकमूल, च्‍वय, धनिया, बेल की जड,  सफ़ेद जीरा, काला जीरा, हल्‍दी,लोंग, दारूहल्‍द , गोखुरू, खरैटी,  शतावरी,इंद्रायाण लाल, मीठा,शिलाजीत, शुद्ध कुचला, बड़ी इलायची, दालचीनी, तेजपात, नागकेसर 10-10ग्राम।
योगराज गुग्‍गल 400 को कूटने के बाद बारीक पीस लें और छान कर मिला लें।

कैसे सेवन करें 
2 से 3 ग्राम दिन में 3 बार दूध के साथ सेवन करें
साथ यह काढ़ा जरूर शामिल कीजिए ।? असगंधरिषट+महारास्नादि काढा और
दशमूलारिष्टा 2-2 चम्मच मिलाकर 3 बार लें ।

कब तक सेवन करना चाहिए 
यूरिक एसिड के लिए 21 से 45 दिन तक
गठिया में 90 दिन से 180 दिन
तक सेवन करें ।
गठियावात की संपूर्ण जानकारी
नोट : -
खूद दवा तैयार करें ।
हम आपके साथ रहेंगे ।
दवा शुरू कर हमे काल जरूर करते रहे ।
हम आप का ह्रदय से साथ देगे ।
Online भी मंगवा सकते हैं।

सिद्ध कायाकल्प चुर्ण